निज चितवन

  • Home
  • निज चितवन
श्री दिग. जैन मंदिर जोधपुर से गुरू मां की डायरी से
24-09-17 03:50 am

श्री दिग. जैन मंदिर जोधपुर से गुरू मां की डायरी से

हे विज्ञात्मन! दर्पणवत् जीऔ! जिसमें स्वागत(अहि..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
29-05-17 09:48 pm

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

🙏🙏🙏🙏 प्रणाम 🙏🙏🙏🙏 *हम अपने हृदय को जितना "भगवान" के ..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
28-05-17 09:16 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे वैराग्यी! कर्म रूपी पीपा को खाली करने के लिए, क..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
27-05-17 09:19 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे साधक! केन्द्र मे हमेशा सुरक्षा रहती है और परिध..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
26-05-17 08:17 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे विज्ञात्मन! समता ,सहजता,निजता कभी नही खोना, ..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
20-05-17 03:40 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे मन रूपी पथिक ! तु सांसारिक दुःख रूप सुधा (भूख) ..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
19-05-17 03:54 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे आत्मन ! आत्म सिद्धि करना चाहती हो तो जैसे पंख..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
15-05-17 08:57 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे आत्माराम! जैसे राम ने दस मुखी विभाव,विकार, वा..

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से
14-05-17 05:02 am

श्री दिग. जैन मन्दिर साखून से गुरु मां की डायरी से

हे आत्माराम! जैसे राम ने दस मुखी विभाव,विकार, वा..

श्री चन्द्रप्रभु दिग. जैन मन्दिर चौधरियान मालपुरा से गुरु माँ की डायरी से
23-02-17 03:18 pm

श्री चन्द्रप्रभु दिग. जैन मन्दिर चौधरियान मालपुरा से..

हे हंसात्मन, प्रभु का रास्ता बड़ा सीधा ओर बड़ा उलझाहु..

श्री चन्द्रप्रभु दिग. जैन मन्दिर चौधरियान मालपुरा से गुरु माँ की डायरी से
22-02-17 11:57 am

श्री चन्द्रप्रभु दिग. जैन मन्दिर चौधरियान मालपुरा से..

हे विज्ञात्मन! तेरे दुख मुल कारण अनादि अविज..

श्री चन्द्रप्रभु दिग. जैन मन्दिर चौधरियान मालपुरा से गुरु माँ की डायरी से
21-02-17 11:58 am

श्री चन्द्रप्रभु दिग. जैन मन्दिर चौधरियान मालपुरा से..

हे विज्ञात्मन! विज्ञा की आराधना से मिथ्यात्व,..