विनयांजलि

  • Home
  • विनयांजलि
Add

बंद किस्मत के लिए क़ोई ताली नहीं होती। सुखी उमिदो की कोई डाली नहीं होती ।। जो झुक जाये गुरू मा के चरणों में। उसकी झोली कभी खाली नहीं होती

Rajkumar jain Temani
Malpura

निशा जैन
जयपुर

ज्ञान लुटाने आ गई गुरुमा मेरी नगरिया में भाव जगाने आ गई मेरी नगरिया में की रंग बरसा दो ना कि भाग्य जगा दो ना। मीठी वाणी तेरी मन सबका हर्षा रही तेरे ज्ञान की खुशबू से मन सबका महका रही तेरी शान निराली है माँ तेरी बात निराली हो गुरु मा को शत शत नमन


गुरु मां के तप आओर ध्यान से भक्तों को शांति ओर शक्ति मिलती है, कांटों पर चलने से गुरु मां भक्तों की बगिया खिलती है संसार गजब का धोखा है कहीं कुआं कहीं पर खाई है गुरु मां के चरणों में आकर किस्मत अपनी चमकाई है। श्रीमति कुसुम जैन कोटा 9460006400

milap jain
kotaraj

रतन लाल जैन
जोधपुर

शिष्य के अनेक उलझे प्रश्नों को गणिनी विज्ञाश्री गुरुमां बिना सुने ही समझ लेती हैं फिर बिना मुख से कहे ही अपने पवित्र आचरण से समाधान कर देती हैं। शर्त यह है कि शिष्य चाहता हो वास्तव में समाधान अन्यथा जगत् में अपनी विद्वत्ता दिखाने को ही चाह रहा हो समाधान। जो प्यास में ही हो गया त..

Show More

ृप्त वह बुझाने का प्रयत्न नहीं करेगा उसके मन का खुरापात गुरुमां समझ ही लेगी।  जो अपनी शंका का समाधान चाहते हैं अपनी इच्छानुसार उन्हें अपात्र मानकर देती नहीं गुरुमां ज्ञान का उपहार, शिष्य के आंतरिक जान लेती हैं गुरुमां विचार देखकर उसका व्यवहार।  चाहे कोई कितनी ही बात घुमाए चौमुखी होती दृष्टि गुरुमां की वे तो जान ही लेती हैं, बिना पूछे ही प्रश्नों का अनायास उत्तर दे ही देती हैं। समीप रहकर भी अज्ञ गुरुमां से कुछ पा नहीं सकते कोसों दूर रहकर भी जो हृदय में गुरुमां को धरते वे अवश्य ही समाधान पाते हर प्रश्नों के समाधान हैं गुरुमां ज्ञान की समंदर मेरी गुरुमां विज्ञा की सागर। शत शत नमन वन्दन रतन लाल जैन, जोधपुर

12-02-2020 09:58 am