विनयांजलि

  • Home
  • विनयांजलि
Add

मेरी। मेरी मां। तुमने। बहुत। कुछ दिया। है। तेरा। शुक्रिया। तेरा। शुक्रिया। मुझे। है। सहारा। तेरी। बंदगी। का? है। जिस पर। गुजारा। मेरी। जिंदगी। का? मिला मुझको? जो कुछ। तुम्हीं ने। दिया है। तेरा शुक्रिया। तेरा शुक्रिया है। किया कुछ ना मैंने। शर्मसार हूं मैं। तेरी रहमतों का। तल..

Show More

गार हूं मैं। दीया कुछ नहीं बस। लिया ही लिया है। तेरा शुक्रिया मां। तेरा शुक्रिया मां। मिला मुझको? जो कुछ। बदौलत तुम्हारी। मेरा कुछ नहीं। सब दौलत तुम्हारी। तेरा शुक्रिया मां। तेरा शुक्रिया मां।

24-02-2020 02:55 am
shashi jain
chandigarh

मोनिका जैन
मोनिका जैन
गाजियाबाद

जो ज्योति सी मेरे ह्रदय में रोशनी भरती रहीं वह विज्ञाश्री मां जो सांस बन इस देह में आती रहीं वह विज्ञाश्री मां जिसका मिलन मुझमें विराग का कोई अनोखा गीत बनकर गूंजता प्रतिक्षण रहा वह विज्ञाश्री मां मैं बंधी जिससे मुझे जो मुक्ति का संदेश नव देती रहीं वह विज्ञाश्री मां जो समय की तू..

Show More

िका से मेरे समय पर निज समय लिखती रहीं वह विज्ञाश्री मां जो दूर रहकर भी सदा से मेरे साथ हैं यही एहसास देती रहीं वह विज्ञाश्री मां मैं जागती हूं या नहीं यह देखने द्वार पर मेरे दस्तक सदा देती रहीं वह विज्ञाश्री मां वंदामि माताजी

24-02-2020 02:22 am

ohh guru ma.. tharo chalo banu me

ishu jain
ishu jain
jaipur

ashish singhal phagi
Gurgaon

jai guru ma